Min menu

Pages

NCERT Solutions Class 8 दूर्वा Chapter-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा)

NCERT Solutions Class 8 दूर्वा Chapter-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा)

NCERT Solutions Class 8  दूर्वा 8 वीं कक्षा से Chapter-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा) के उत्तर मिलेंगे। यह अध्याय आपको मूल बातें सीखने में मदद करेगा और आपको इस अध्याय से अपनी परीक्षा में कम से कम एक प्रश्न की उम्मीद करनी चाहिए। हमने NCERT बोर्ड की टेक्सटबुक्स हिंदी दूर्वा केसभी Questions के जवाब बड़ी ही आसान भाषा में दिए हैं जिनको समझना और याद करना Students के लिए बहुत आसान रहेगा जिस से आप अपनी परीक्षा में अच्छे नंबर से पास हो सके।


Solutions Class 8 दूर्वा Chapter-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा)
एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर

Class 8 दूर्वा

पाठ-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा)

अभ्यास के अन्तर्गत दिए गए प्रश्नोत्तर 

पाठ-16 (बूढ़ी अम्मा की बात (लोककथा)

Page No 107:

Question 1:

(क) लोककथा में गोमा बिना खेत जोते अपने बैलों को हाँहकर घर की ओर क्यों चल पड़ा?

(ख) गोमा को पेड़ के नीचे बैठा देखकर बूढ़ी अम्मा ने उससे क्या कहा?

(ग) गोमा ने अपने खेतों को क्यों जोता?

उत्तर :

(क) वर्षा ने होने के कारण सूखा पड़ा था। उसने सोचा वर्षा की कोई आशा नहीं है तो खेत जोतकर क्या करूँगा। इसलिए वह बिना खेत जोते बैलों को घर वापस ले आया।

(ख) गोमा को पेड़ के नीचे बैठे देखकर बूढ़ी अम्मा ने कहा, ये समय तो खेत जोतने का है और तुम आराम कर रहे हो। तुम अपना खेत जोतो। वर्षा भी हो जाएगी। तुम अपना काम समय पर करो। प्रकृति अपना काम समय पर करेगी।

(ग) गोमा ने अपने खेतों को बूढ़ी अम्मा के कहने पर जोता क्योंकि उसे समझ आ गया था कि अपना काम समय पर करना चाहिए।

Page No 107:

Question 2:

(क) गोमा खेतों को तैयार न करता?

(ख) गोमा को बूढ़ी अम्मा नहीं मिलती?

(ग) बूढ़ी अम्मा की बात पर गोमा ध्यान न देता?

(घ) इस साल भी वर्षा न होती?

उत्तर :

(क) यदि गोमा खेतों को तैयार न करता तो वर्षा का पानी पूरी तरह खेतों को नहीं मिल पाता।

(ख) यदि गोमा को बूढ़ी अम्मा नहीं मिलती तो शायद वह असमंजस में ही रह जाता और समय पर खेत नहीं जोत पाता। 

(ग) यदि गोमा बूढ़ी अम्मा की बात पर ध्यान न देता तो वर्षा का उपयोगी जल खेतों को नहीं मिलता।

(घ) यदि इस साल भी वर्षा न होती तो सूखा पड़ जाता। अनाज नहीं होता। जानवर और आदमियों के मरने तक की नौबत आ सकती थी।

Page No 108:

Question 3:

(क) बूढ़ी अम्मा ने वर्षा न होने का क्या कारण बताया था?

(ख) क्या तुम बूढ़ी अम्मा की बात से सहमत होते? अपने उत्तर का कारण भी बताओ।

उत्तर :

(क) बूढ़ी अम्मा ने वर्षा न होने का कारण बताया कि बहुत पेड़ कट गए हैं। हरियाली नहीं है, जिससे वर्षा समय से नहीं हो रही है।

(ख) हाँ! हम बूढ़ी अम्मा की बात से सहमत हैं क्योंकि जितने अधिक पेड़ होंगे वर्षा उतनी ही अच्छी व समय पर होगी।

Page No 108:

Question 4:

(क) "इस वर्ष भी आषाढ़ सूखा ही रहा।"

लोककथा से जाहिर होता है कि गोमा के गाँव में तीन साल से वर्षा नहीं हुई थी। वर्षा न होने के कारण उनके गाँव के बैलों, खेतों और पेड़ों में क्या बदलाव आए होंगे?

(ख) "सवेरे-सवेरे अपने पशुओं की ये आवाज़ें सुनने के लिए उसके कान तरस गए थे।"

गोमा ने बहुत समय बाद अपने पशुओं की वे आवाज़ें सुनी थीं। क्यों?

उत्तर :

(क) गाँव के बैलों, खेतों और पेड़ों की दशा खराब हो गई होगी। खेत और पेड़ सूख गए होंगे। बैलों को खाने को कुछ नहीं मिला होगा। वे कमज़ोर पड़ गए होंगे।

(ख) गोमा ने यह आवाज़ें बहुत दिनों बाद सुनी थी क्योंकि वर्षा न होने से जानवर उदास थे। बादलों को देखकर गाय खुशी के मारे रंभाने लगी थी। बकरियाँ मिमियाने लगी थीं।

Page No 108:

Question 5:

बूढ़ी अम्मा ने कहा, "वर्षा अवश्य होगी।"

(क) तुम्हारे विचार से बूढ़ी अम्मा ने गोमा से यह बात क्यों कही?

(ख) क्या उन्हें मालूम था कि इस साल वर्षा होगी? या उन्होंने अपने अनुभव के आधार पर केवल अंदाजा लगाया था?

(ग) वर्षा और पेड़ों के संबंधों के बारे में सोचो। पाँच-पाँच बच्चों के समूह बनाकर इस बारे में बातचीत करो। फिर सबको अपने समूह के विचार बताओ।

उत्तर :

(क) बूढ़ी अम्मा ने गोमा से यह बात कही क्योंकि बूढ़ी अम्मा अनुभवी थी और चाहती थी कि गोमा मेहनत से न कतराए।

(ख) इस साल वर्षा होगी, यह उन्हें मालूम होगा या नहीं परन्तु अपने अनुभव से उन्होंने अंदाज़ा लगाया था।

(ग) वर्षा और पेड़ों का आपस में गहरा संबंध है। वर्षा होगी तो धरती को जल मिलेगा जिससे पेड़-पौधे उपजेंगे वरना सूख जाएँगे।

Page No 108:

Question 6:

सही शब्दों पर गोला बनाओ– 

कामचोर, आलसी, मेहनती, भोला-भाला, मूर्ख, समझदार, गरीब, अमीर, कमज़ोर, लगन का पक्का

अब अपने उत्तर का कारण नीचे लिखो

मेरे विचार से गोमा .............. व्यक्ति था क्योंकि ...............

...............................................................................................................................

...............................................................................................................................

उत्तर :

मेरे विचार से गोमा मेहनती, भोलाभाला, समझदार, गरीब और लगन का पक्का व्यक्ति था क्योंकि वह रोज़ बैलों को खोलकर खेतों की ओर ले जाता पर सूखा देखकर लौट आता था। बूढ़ी अम्मा के कहने पर तुरंत ही वह खेतों के काम में लग गया। धरती सूखी थी फिर भी उसने चार दिन में पूरा खेत जोत दिया।

Page No 108:

Question 7:

"कई बार उसका मन डाँवाडोल भी हुआ।"

गोमा खेतों में काम करने जा रहा था। कई बार उसने घर लौट जाने की बात भी सोची। तुम्हारा मन भी ज़रूर कभी डाँवाडोल होता होगा? ऐसा कब-कब होता है? अपने ढंग से सोचकर इस सूची को पूरा करो।

(क) जब खूब नींद आ रही हो और दोस्त खेलने को बुलाने लगे।

(ख) .................................................................................

(ग) .................................................................................

(घ) ................................................................................

(ङ) .................................................................................

उत्तर :

(क) जब खूब नींद आ रही हो और दोस्त खेलने को बुलाने लगे।

(ख) जब आपको पढ़ाई भी करनी हो और खेलना भी हो।

(ग) परीक्षा के दिनों मे दोस्त दरवाज़े पर खड़े आवाज़ लगा रहे हों।

(घ) आपकी माँ ने निकलने के लिए मना किया हो।

(ङ) स्कूल जाने का मन नहीं हो और स्कूल जाना पड़ रहा हो।

Page No 109:

Question 8:

इस लोककथा में खेती से संबंधित अनेक शब्द आए हैं। उनकी सूची बनाओ। फिर उन्हें वर्णमाला के क्रम से लिखो।

उत्तर :

किसान, खेत, गाय, जोड़ी बैल, जोतना, फसलें, मेंड, धरती वर्षा, हल।

Page No 109:

Question 9:

यह मालवा (मध्यप्रदेश) की एक लोककथा है। तुम्हारे प्रांत की भाषा/बोली में भी कुछ लोककथाएँ होंगी जिसे लोग सुनते-सुनाते होंगे। उनमें से तुम अपनी पसंद की किसी लोक कथा को अपनी कॉपी में लिखो और अपने मित्रों को सुनाओ।

उत्तर :

छात्र स्वयं अपने प्रांत की भाषा या बोली में लोककथाएँ लिखें और अपने मित्रों को सुनाएँ। इसके लिए अपनी दादा-दादी, नाना-नानी और माताजी और पिताजी की सहायता ले सकते हैं। 

Page No 109:

Question 10:

तुम गीत-गाने, किस्सा-कहानी को सुनने के अलावा फ़िल्में भी देखते होगे। अब तुम पता करो कि– 

(क) लोकगीतों और लोककथाओं को कौन-कौन लोग बनाते और गाते हैं?

(ख) क्या लोककथाओं पर भी नाटक या सिनेमा बना है? कुछ के नाम बताओ।

ऊपर के काम में तुम बड़ों से भी मदद ले सकते हो।

उत्तर :

(क) लोकगीतों को ग्रामीण लोग बनाते हैं और वे ही गाते हैं परन्तु आजकल इनका प्रचलन शास्त्रीय संगीत में बहुत हो गया है।

(ख) हाँ! लोक कथाओं पर कई नाटक व फिल्म बनी हैं; जैसे–नागिन, पहेली।

Page No 109:

Question 11:

नीचे लिखे वाक्यों को अपने ढंग से सार्थक रूप में तुम जिस तरह भी लिख सकते हो वैसे लिखो। 

(क) उसने बादलों को जी भर निहारा।

(ख) वर्षा की कोई आशा नहीं बँध रही थी।

(ग) गोमा ने फिर हिम्मत बटोरी।

(घ) उसने घर की राह पकड़ ली।

(ङ) वर्षा बरसाना तुम्हारे हाथ में नहीं है।

उत्तर :

(क) जी भर उसने बादलों को निहारा।

(ख) वर्षा की कोई आशा ही नहीं थी।

(ग) गोमा ने फिर हिम्मत की।

(घ) उसने घर की राह ली।

(ङ) वर्षा का होना तुम्हारे हाथ में नहीं है।

Page No 109:

Question 12:

खेती से प्राप्त होने वाले बहुमूल्य सामानों की सूची बनाओ और उस सूची में से जो सामान तुम्हारे प्रदेश की खेती से प्राप्त होता है उसका भी अलग से उल्लेख करो।

उत्तर :

खेती से प्राप्त होने वाले बहुमूल्य समान- अनाज, दालें, तिलहन आदि।

प्रदेश की खेती से प्राप्त होने वाला बहुमूल्य समान- मेरा गांव जोकि गढ़वाल में है, वहाँ मसूर की दाल, सोयाबीन, चावल, गेहूँ, ज़्वार, तिल, सरसों इत्यादि प्राप्त होते हैं। (हर प्रदेश या गाँव के छात्रों के यहाँ पर खेती से बहुत कुछ प्राप्त होता होगा, उसका स्वयं उल्लेख कीजिए।)

एनसीईआरटी सोलूशन्स क्लास 8 दूर्वा  पीडीएफ

Comments